Posted in मध्यप्रदेश

जागरुक महिला संगठन की महिलाओं ने किया नि:शुल्क मास्क वितरण

जगप्रेरणा डॉट कॉम।
म.प्र. के बैतुल जिले के सारणी तहसील में घरेलु महिलाओं ने अपना एक जागरुक महिला संगठन बनाया है, और इस संगठन के माध्यम से जहां वे अनेक सामाजिक सेवाओं के कार्य को अंजाम देती हैं, वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये भी जागरुक महिला संगठन की महिलाओं ने सराहनीय पहल की है। कोरोना वायरस के जानलेवा संक्रमण की तीव्रता को रोकने के लिये शासन प्रशासन जिस तरह से प्रयास कर रहा है, वहीं इन महिलाओं ने भी कत्र्तव्य निभाते हुए प्रतिदिन 3 से 4 घंटे तक घरों में सिलाई कर नए कपड़ों के मास्क तैयार किये हैं, और मास्क को सेनेटराईज करते हुए महिलाओं द्वारा सारणी नगर पालिका के कर्मचारियों एवं मजदूरों, रिक्शा चालकों, आटो रिक्शा चालकों तथा स्लम एरिया में पहुंचकर बड़ी संख्या में मास्क का वितरण किया, इसके साथ ही झुग्गी झोपड़ी क्षेत्र में रहने वाले लोगों को कोरोना वायरल कोविड 19 की जानकारी देते हुए महिलाओं द्वारा सावधानी, सुरक्षा का ध्यान रखते हुए स्वच्छता रखने एवं मास्क तथा सेनेटाईजर सामग्रीयां घर में ही बनाने के उपाय बताते हुए सावधानी के लिये आवश्यक जानकारीयां भी प्रदान की। जागरुक महिला संगठन की प्रतिनिधि श्रीमती रीनु पचोरिया ने जगप्रेरणा को बताया कि नगर पालिका द्वारा भी सफाई कर्मचारियों को मास्क का वितरण किया गया, परंतु वे मास्क का उपयोग करते नहीं पाए गए, जिसके लिये उन्हें जागरुक किया गया, और मास्क वितरण करते हुए उन्हें निरंतर मास्क लगाकर सफाई कार्य करने के लिये प्रेरित किया गया। संगठन की संचिता गुप्ता ने होम मेड सेनेटाईजर घर में ही बनाने की विधि बताई, श्रीमती निशा पाण्डेय द्वारा जनता कफ्यू एवं कोरोना से डरे बिना मुकाबला करने के लिये प्रेरत जानकारियां प्रदान की। जागरुक महिला संगठन द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री मेश्राम एवं भावसार व समस्त कर्मचारियों की उपस्थिति में नगर पालिका सफाई कर्मचारियों को मास्क वितरण किया, इस दौरान महिला संगठन की सदस्यों में प्रमुख रुप से श्रीमती नीलम सिंह, राधा निगम, निशा पाण्डेय, रीनु पचौरिया, संचिता गुप्ता, शंकुन्तला शास्त्री, सुनीता राने, मालती साहु, दुर्गा पन्द्रे, सल्लो धुर्वे उपस्थित थी।

Posted in Uncategorized

Posted in मध्यप्रदेश

श्री वी.के.सिंह ने किया पदभार ग्रहण

भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी श्री वी.के.सिंह ने आज संचालक खेल एवं युवा कल्याण के पद का कार्यभार ग्रहण किया। श्री सिंह ने अधिकारियों से चर्चा कर विभागीय गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर संयुक्त सचालक श्री विनोद प्रधान श्री बी.एल.यादव तथा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Posted in दिल्ली

प्रेस विज्ञप्ति

राष्ट्रपति ने आज (6 मार्च 2020) राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में 10 बजकर 15 मिनट पर केन्द्रीय सूचना आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त के रूप में श्री बिमल जुल्का को पद की शपथ दिलाई।

Posted in मध्यप्रदेश

फरवरी में 45120 बिजली उपभोक्ताओं से लिया गया फीडबैक

 

तीनों विद्युत वितरण कम्पनियों द्वारा फरवरी माह में 45 हजार 120 बिजली उपभोक्ताओं से फीडबैक लेकर उनकी संतुष्टि देखी गयी। ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने बताया कि फीडबैक कॉल में 43 हजार 576 उपभोक्ताओं ने ऊर्जा विभाग की सेवाओं पर संतुष्टि व्यक्त की। श्री सिंह ने उपभोक्ता संतुष्टि शत-प्रतिशत करने के निर्देश दिये हैं।पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में संतुष्टि उपभोक्ताओं का प्रतिशत लगभग 97.5, मध्यक्षेत्र का प्रतिशत 92.8 और पश्चिम क्षेत्र में संतुष्ट उपभोक्ताओं का प्रतिशत 99.2 रहा है। संतुष्टि का कुल प्रतिशत 96.5 है। प्रत्येक कंपनी प्रतिदिन 500 उपभोक्ताओं से फीडबैक ले रही है।

Posted in मध्यप्रदेश

“नमस्ते ओरछा” महोत्सव के पहले दिन बड़ी संख्या में पर्यटकों ने किये रामराजा के दर्शन

नमस्ते ओरछा’ महोत्सव के पहले दिन आज पुष्‍य नक्षत्र में बड़ी संख्या में पर्यटकों ने ओरछा में भगवान रामराजा के दर्शन किये। मान्यता है कि भगवान राम आज ही के दिन ओरछा पधारे थे। रामराजा मंदिर में आसपास के जिलों के साथ देश-विदेश के श्रद्धालुओं ने भगवान रामराजा की पूजा-अर्चना कर पुण्य लाभ प्राप्त किया।आज शाम से तीन दिवसीय नमस्ते ओरछा महोत्सव की औपचारिक शुरूआत हो रही है। महोत्सव के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों, हेरिटेज वॉक और पर्यटन से जुड़ी अन्य गतिविवि‍धयाँ होंगी।महोत्सव में आज भगवान श्रीराम के अयोघ्या से ओरछा आगमन की ऐतिहासिक गाथा को थ्री-डी मैपिंग से जहांगीर महल की दीवारों पर दिखाया जायेगा। साथ ही शास्त्रीय संगीत की स्वर लहरियों के बीच यहाँ विदेशी संगीतज्ञों के साथ बुंदेली गायक सुर-ताल मिलाते दिखाई देंगे।ओरछा में स्थानीय कलाकारों के उत्पादों का क्राफ्ट बाजार भी आज शुरू हुआ। इसमें चंदेरी बुनाई, महेश्वरी साड़ी, बाग प्रिंट और गौंड पेंटिंग का प्रदर्शन किया जा रहा है। पर्यटकों को बुंदेली व्यंजनों के स्वाद के लिये एक फूड बाजार भी लगाया गया है, जिसका पर्यटक भरपूर लुफ्त उठा रहे हैं। ओरछा में फूड बाजार में बुंदेली व्यंजन आर्कषण का केन्द्र बने हुए हैं।

Posted in दिल्ली

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना स्वतंत्र भारत में सामाजिक-आर्थिक बदलाव और महिला सशक्तिकरण का सबसे बड़ा कारक है : श्री धर्मेन्द्र प्रधान

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान ने आज नई दिल्ली में कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) स्वतंत्र भारत में सामाजिक-आर्थिक बदलाव और महिला सशक्तिकरण का सबसे बड़ा कारक है। पीएमयूवाई पर आयोजित एक कार्यशाला में श्री प्रधान ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में हमने एलपीजी कनेक्शनों की संख्या दोगुनी से अधिक कर दी है। उल्लेखनीय है कि एलपीजी कवरेज 55 प्रतिशत से बढ़कर 97.4 प्रतिशत हो गया है। पीएमयूवाई देश में महिलाओं की स्थिति में सामाजिक-आर्थिक बदलाव लाने का सबसे बड़ा कारक है।श्री प्रधान ने कहा कि घरों के पारंपरिक चूल्हों से निकलने वाला धुआं स्वास्थ्य के लिए खतरनाक होता है। समाज की गरीब महिलाओं को सुरक्षित और पर्यावरण अनुकूल एलपीजी ईंधन उपलब्ध करने से घरों में धुएं का प्रदूषण कम हो गया है, हालांकि यह अभियान अभी पूरा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, “व्यवहारिक बदलाव, आपूर्ति श्रृंखला को और मजबूत बनाना, स्वच्छ ऊर्जा को अपनाना हमारी प्राथमिकताएं हैं। हम एलपीजी सिलेन्डरों को रीफिल करने की प्रक्रिया के लिए अभिनव तरीकों की तलाश में हैं।”श्री प्रधान ने कहा कि जलवायु परिवर्तन पूरे विश्व के लिए चिंता का विषय है। आर्थिक सशक्तिकरण के लिए ऊर्जा महत्वपूर्ण घटक है। उन्होंने कहा, “हम सभी भारतवासियों के लिए ऊर्जा न्याय सुनिश्चित करने की दिशा में काम कर रहे हैं। सस्ती, टिकाऊ, कारगर, सुरक्षित ऊर्जा। एलपीजी को सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन का कारक होना चाहिए।”पीएमयूवाई लाभार्थियों ने बड़ी तादात में हिस्सा लिया और अपने अनुभवों को साझा किया कि किस तरह उनके घरों में गैस का चूल्हा आने के बाद उनके जीवन में अभूतपूर्व सुधार हुआ है। कार्यशाला का आयोजन इस समय चल रहे अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2020 समारोहों के मद्देनजर किया गया था।

Posted in दिल्ली

जन औषधि दिवस समारोह 7 मार्च, 2020 को मनाया जाएगा

जन औषधि दिवस 7 मार्च, 2020 को मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी नई दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चुने हुए जन औषधि केन्‍द्रों के मालिकों तथा प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना (पीएमबीजेपी) के लाभार्थियों से बातचीत करेंगे। दूरदर्शन समाचार के माध्‍यम से प्रत्‍येक जन औषधि केन्‍द्र से प्रधानमंत्री के संदेश को प्रसारित किया जाएगा   केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री श्री डी वी सदानंद गौड़ा उत्तर प्रदेश के वाराणसी में प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना केंद्र में भाग लेंगे। केंद्रीय जहाजरानी और रसायन तथा उर्वरक राज्‍य मंत्री श्री मनसुख लक्ष्मणभाई मंडाविया जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना केंद्र में भाग लेंगे। श्री गौड़ा ने सभी केन्‍द्रीय मंत्रियों से जन औषधि दिवस समारोह में भाग लेने का अनुरोध किया है, ताकि जन औषधि केन्‍द्रों की दवाइयों के प्रति लोगों का विश्‍वास बढ़ाया जा सके और योजना के बारे में जागरूकता पैदा की जा सके।  पूरे देश में पीएमबीजेपी केन्‍द्रों पर योजना के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए विभिन्‍न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इन कार्यक्रमों में डॉक्‍टर, स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ, एनजीओ तथा बड़ी संख्‍या में लाभार्थी शामिल होंगे। जन औषधि दिवस का उद्देश्‍य जेनेरिक दवाओं के उपयोग के बारे में जागरूकता पैदा करना है। इस अवसर पर सभी के लिए गुणवत्‍ता संपन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल का कदम सरकार द्वारा उठाए गए हैं। इन कदमों में आयुष्‍मान भारत, पीएमबीजेवाई आदि शामिल हैं।प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजना की घोषणा प्रधानमंत्री ने की थी, ताकि रियायती दरों पर सभी को विशेषकर गरीब और वंचित लोगों को उच्‍च गुणवत्‍ता की दवाइयां उपलब्‍ध कराई जा सकें ।जन औषधि केंद्र को विश्व की सबसे बड़ी खुदरा दवा श्रृंखला माना जाता है। देश के 700 जिलों में 6200 जन औषधि केंद्र खोले गए हैं। इन केंद्रों में वित्त वर्ष 2019-20 में 390 करोड़ रुपये से अधिक की कुल बिक्री हुई और इससे  सामान्य नागरिकों के लिए कुल 2200 करोड़ रुपये की बचत हुई। यह योजना सतत और नियमित आय के साथ स्वरोजगार का अच्छा साधन प्रदान करती है।

Posted in मध्यप्रदेश

देश को बाँटने वाली शक्तियों को पहचानें, भारत की असली शक्ति है आध्यात्मिक शक्ति

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि आज ऐसी शक्तियों को भी पहचानना जरूरी है, जो देश को बाँटने का काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि भारत की संस्कृति अनेकता में एकता की संस्कृति है। इसकी असली शक्ति आध्यात्मिक शक्ति है, जो देश को बांधे रखती है और आगे बढ़ाती है। श्री कमल नाथ बिट्टन मार्केट दशहरा मैदान में यादव महासभा मध्यप्रदेश के प्रांतीय अधिवेशन को संबोधित कर रहे थे।श्री कमल नाथ ने कहा कि यादव समाज हर क्षेत्र में जागरूक समाज है। जागरूक समाज होने के नाते यादव समाज की बुजुर्ग और नौजवान पीढ़ी का कर्तव्य है कि देश के मूल्यों को पहचाने। नई पीढ़ी को देश के सांस्कृतिक मूल्यों से परिचित कराएं, इससे जोड़े रखें। उन्होंने कहा कि विश्व में भारत एकमात्र देश है, जो विविधताओं के बावजूद एक झण्डे के नीचे शान से खड़ा है।मप्र की नई पहचान बनाने आगे आयें युवामुख्यमंत्री ने कहा कि बुजुर्ग और नई पीढ़ी में बहुत अंतर है। नई पीढ़ी की पहुंच तकनीकी और ज्ञान तक पहुंच है। नई पीढ़ी सिर्फ आगे बढ़ने के अवसर चाहती है। उनमें क्षमता और प्रतिभा दोनों है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नया मध्यप्रदेश बनाना और इसकी नई पहचान बनाना चुनौती है। मध्यप्रदेश की नई पहचान पर हर नागरिक को गर्व होना चाहिए। हर क्षेत्र में मध्यप्रदेश की नई पहचान बने चाहे वह आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र हो। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा आर्थिक गतिविधियां बढ़ाकर रोजगार के अवसर युवाओं का देना सबसे पहली प्राथमिकता है। रोजगार निर्माण आर्थिक गतिविधि का ही एक आयाम है। यादव समाज की भूमि उपलब्ध कराने एवं अन्य मांगों के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि वे यादव समाज को निराश नहीं होने देंगे। उन्होंने यादव समाज सहित अन्य समाजों के युवाओं का आव्हान किया कि नया मध्यप्रदेश बनाने के लिए सब एक साथ मिलकर आगे बढ़ें।इस अवसर पर यादव महासभा के महासचिव श्री दामोदर यादव ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ घोषणाओं पर नहीं, काम पर विश्वास करने वाले मुख्यमंत्री हैं। मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश को नई ऊँचाईयों पर ले जाना चाहते हैं। उन्होंने अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण देने और समन्वय भवन का नाम स्वर्गीय श्री सुभाष यादव के स्मृति में रखने के लिए मुख्यमंत्री का यादव समाज की ओर से आभार व्यक्त किया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री अरूण यादव ने भी अधिवेशन को संबोधित किया।इस अवसर पर कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री श्री सचिन यादव, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव, पूर्व मंत्री श्री भगवान सिंह यादव, विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, श्री योगेन्द्र मंडलोई एवं बड़ी संख्या में यादव समाज के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Posted in मध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में “राम वन पथ-गमन” निर्माण के लिये न्यास गठित होगा

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की अध्यक्षता में मंत्रालय में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में चित्रकूट से लेकर अमरकंटक तक चिन्हांकित किये गये राम वन पथ गमन के निर्माण के लिये न्यास का गठन करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में न्यास का गठन होगा। न्यास में मुख्य सचिव सदस्य होंगे तथा अन्य न्यासी सदस्य भी होंगे।मंत्रि-परिषद ने श्री महावीर कीर्ति स्तम्भ समिति, भिण्ड को उनके आधिपत्य की भूमि को पूर्व की सभी देयताओं में छूट देते हुए शून्य प्रीमियम एवं मात्र 1 रूपये वार्षिक भू-भाटक पर देने की मंजूरी दी। समिति को भूमि का हस्तांतरण किया जायेगा।मंत्रि-परिषद ने प्रतिस्पर्धात्मक आधार पर आमंत्रित निविदा अन्तर्गत 1320 मेगावाट विद्युत क्रय की स्वीकृति दी। एमपी पॉवर मैनेजमेंट कम्पनी द्वारा विद्युत मंत्रालय भारत सरकार द्वारा डिजाइन, बिल्ड,फाइनेंस, ओन और ऑपरेट (डीबीएफओओ) आधार पर स्थापित ताप विद्युत स्टेशनों से दीर्घकालीन विद्युत क्रय के लिये जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर राज्य में स्थापित की जाने वाली 1320 मेगावाट क्षमता की नवीन ताप विद्युत परियोजना से विद्युत क्रय के लिये निविदा जारी की गयी थी। उक्त निविदा में मेसर्स अडानी पॉवर लिमिटेड द्वारा वर्ष 2026-27 (प्रथम वर्ष) के लिये उद्धत न्यूनतम दर 4.79 रूपये प्रति यूनिट के लिये मंत्रि-परिषद ने स्वीकृति दी और आगामी कार्यवाही के लिये एमपी पॉवर मैनेजमेंट कम्पनी को अधिकृत किया।मंत्रि-परिषद ने लोक सेवा प्रबंधन विभाग अन्तर्गत सीएम हेल्प लाईन के प्रभावी संचालन के लिये प्रतिनियुक्ति/संविदा के संचालक, उप संचालक के एक-एक पद और वरिष्ठ तकनीकी सलाहकार के 4 पद कुल 6 पद को आगामी 5 वर्ष तक निरंतर रखने की मंजूरी दी। इसी प्रकार सीएम हेल्प लाईन के कार्यों में हुए विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए 3 कार्यालय सहायक/ डाटा-एन्ट्री ऑपरेटर और 2 भृत्य के नये पदों को सृजित कर आउटसोर्स के माध्यम से रखने की मंजूरी दी।