Category: स्वास्थ्य

Posted in स्वास्थ्य

राजभवन के चिकित्सकों ने रैन बसेरा में लगाए स्वास्थ्य शिविर

भोपाल।

राजभवन के चिकित्सकों द्वारा विगत माह रैन बसेरा, शाहजहांनी पार्क में दो स्वास्थ्य परीक्षण शिविरों  का आयोजन किया गया। इन शिविरों में आयुर्वेद, होम्योपैथ और एलोपैथ  चिकित्सा विशेषज्ञों ने अपनी सेवाएँ दीं। शिविर में 220 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उचित उपचार और परामर्श दिया गया। शिविर में 71 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. गीता सुकुमार द्वारा किया गया। इनमें से 50 को उचित उपचार और 21 को रोग प्रतिरोधक  औषधियां वितरित की गई। होम्योपैथिक चिकित्सक डॉक्टर कीर्ति राठौर द्वारा 77 रोगियों का परीक्षण किया गया, जिन में से 37 को उचित उपचार और 40 को रोग प्रतिरोधक दवाएं प्रदान की गई। शिविर में अधिकांश मरीज सर्दी, जुकाम के मिले।

Posted in स्वास्थ्य

ऊर्जा दक्षता को बढ़ाने के लिए आईईए के साथ मिलकर करेंगे काम : धर्मेन्द्र प्रधान 

 नई दिल्ली, 10 जनवरी, ।केन्द्रीय पेट्रोलियम व इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी के कार्यकारी निदेशक फतिह बिरोल से मुलाकात की। धर्मेन्द्र प्रधान ने मुलाकात के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस्पात के क्षेत्र में ऊर्जा दक्षता को बढ़ाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी के साथ मिल कर काम करेंगे। भारत और अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी के लंबे समय से मजबूत संबंध रहे हैं।उन्होंने बताया कि भविष्य में ऊर्जा के क्षेत्र में होने वाले विकास और संभावनाओं में भारत की भागीदारी सुनिश्चित करने के साथ उसका लाभ देश को मिले यह भी सुनिश्चित करना है। प्रधान ने बताया कि आईईए के साथ हाल ही में वैश्विक तेल बाजार में आए बदलाव और उसकी चुनोतियों पर भी बात हुई है, उन चुनौतियों से निपटने की दिशा में वैकल्पिक ऊर्जा के सभी संभावनाओं पर बात की गई है। दोनों के बीच परस्पर संबंधों को और मजबूत किया जाएगा और सभी के लिए सस्ती ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता, साफ ऊर्जा व औद्योगिक क्षेत्र से प्रदूषण को कम करने की दिशा में काम करेंगे।
Posted in स्वास्थ्य

महामारी फ़ैलाने की आशंका से विद्यालय में अवकाश घोषित 

कोरबा 09 जनवरी । मृत मवेशियों को नहीं हटाये जाने से महामारी की आशंका को ध्यान में रखते हुए गुरुवार को एक शासकीय हायर सेकेण्डरी विद्यालय में विद्यार्थियों को छुट्टी दे दी गई है। प्रशासन को इस बारे में अवगत कराया गया है। जिले के पाली विकासखण्ड अंतर्गत नूनेरा के हायर सेकेण्डरी विद्यालय के प्राचार्य ने शाला प्रबंधन समिति और पालकों के साथ चर्चा करने के साथ यह निर्णय लिया गया। प्राचार्य ने बताया कि आपातकालीन बैठक सुबह 10 बजे ली गई। इसमें विद्यालय के आसपास मृत पड़े मवेशियों को नहीं हटाने के कारण फैल रही दुर्गंध और इससे महामारी के उत्पन्न होने की आशंका व्यक्त की गई। विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सर्वसम्मति से 9  जनवरी के लिए विद्यालय में अवकाश की घोषणा की गई। एसडीएम कटघोरा सूर्यकिरण तिवारी ने बताया कि, मामले की जानकारी प्राप्त हुई है। वस्तुस्थिति को जानने के लिए वीरेंद्र श्रीवास्तव को नुनेरा भेजा गया है। रिपोर्ट के साथ कार्रवाई की जायेगी।

 

Posted in छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना में 73 हजार से अधिक लोगों का इलाज

रायपुर । मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत पिछले तीन महीनों में 73 हजार से अधिक लोगों का इलाज किया गया है। प्रदेश के सभी 13 नगर निगमों के कुल एक हजार 369 स्लम्स में स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल मेडिकल टीम ने पहुंचकर लोगों को निःशुल्क उपचार, चिकित्सा परामर्श एवं दवाईयां उपलब्ध कराई हैं। स्लम क्षेत्रों में आयोजित शिविरों में मलेरिया, एचआईव्ही, मधुमेह, एनिमिया, टीबी, कुष्ठ, उच्च रक्तचाप, नेत्र विकार व गर्भवती महिलाओं की जांच के साथ ही बच्चों का टीकाकरण भी किया जा रहा है।  सभी लोगों तक स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच बढ़ाने और इसके सुदृढ़ीकरण के लिए राज्य शासन द्वारा इस वर्ष 2 अक्टूबर गांधी जयंती के दिन से मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना शुरू की गई है। शुरूआत से ही इस सुविधा को लोगों की अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। स्लम क्षेत्रों में लगाए जा रहे स्वास्थ्य शिविरों में बड़ी संख्या में लोग इलाज कराने पहुंच रहे हैं। प्रदेश के नगर निगम क्षेत्रों की एक हजार 567 स्लम्स में रहने वाली करीब 16 लाख आबादी को विद्यमान स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ ही इस योजना के जरिए चिकित्सा सेवा मुहैया कराई जा रही है।  मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत पिछले पिछले तीन महीनों अक्टूबर, नवम्बर और दिसम्बर में कोरबा नगर निगम में 17 हजार 684, रायपुर में 14 हजार 712, भिलाई में सात हजार 013, राजनांदगांव में छह हजार 977, अंबिकापुर में पांच हजार 688, दुर्ग में पांच हजार 594, रायगढ़ में चार हजार 656, जगदलपुर में तीन हजार 066, भिलाई-3-चरोदा में दो हजार 609, बीरगांव में दो हजार 222, धमतरी में एक हजार 676, बिलासपुर में एक हजार 402 और चिरमिरी नगर निगम में एक हजार 035 लोगों का निःशुल्क इलाज किया गया है।  मोबाइल मेडिकल टीमों ने इस दौरान दुर्ग नगर निगम में 447, भिलाई में 320, कोरबा में 114, राजनांदगांव में 101, रायपुर में 83, अंबिकापुर में 67, भिलाई-3-चरोदा में 60, रायगढ़ में 54, चिरमिरी में 38, धमतरी में 28, बीरगांव में 27, जगदलपुर में 12 तथा बिलासपुर नगर निगम में 11 स्लम क्षेत्रों में पहुंचकर लोगों की जांच व उपचार कर निःशुल्क दवाईयां दी हैं।  नगर निगम वाले 13 शहरों के स्लम क्षेत्रों में बीते तीन महीनों में कुल चार हजार 887 लोगों की मलेरिया जांच की गई है। शिविरों में छह हजार 618 लोगों के उच्च रक्तचाप, 19 हजार 274 लोगों की मधुमेह, 13 हजार 209 लोगों की रक्त-अल्पता (एनिमिया), दो हजार 123 लोगों के नेत्र विकार, 298 लोगों की टीबी, 347 लोगों की कुष्ठ और एक हजार 477 लोगों की एचआईव्ही जांच की गई है। मोबाइल मेडिकल दलों ने इस दौरान दो हजार 910 गर्भवती महिलाओं की जांच और 104 शिशुओं का टीकाकरण किया है। डायरिया पीड़ित एक हजार 684 मरीजों का उपचार भी स्लम्स में आयोजित इन शिविरों में किया गया है।