Category: व्यापार

Posted in दिल्ली व्यापार

अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस की भारत आगमन पर व्‍यापारी करेंग विरोध : कैट

नई दिल्‍ली। अमेजन के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (सीईओजेफ बेजोस की देशभर के व्यापारी विरोध-प्रदर्शन करेंगे। ये बात कन्‍फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने टिपण्णी करते हुए कहा की बेजोस की यात्रा कुछ और नहीं है, बल्कि भारत सरकार को भरमाने की चेष्‍टा मात्र है।  खंडेलवाल ने शनिवार को कहा की कैट द्वारा सरकार को अमेजन की कारगुजारियों एवं एफडीआई पॉलिसी के घोर उल्लंघन के बारे में सबूतों के साथ पूर्व में अवगत करा दिया गया है,  इस दृष्टि से व्यापारियों को नहीं लगता की सरकार उनके तर्कों से सहमत होगी। खंडेलवाल ने कहा कि बेजोस छोटे खुदरा विक्रेताओं को सशक्त बनाने की एक झूठी कहानी बनाने के लिए भारत आ रहे हैं। अगर वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलते हैं,  तो वह ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन की एफडीआई नीति के उल्लंघन पर तथ्‍यहीन तर्कों एवं छोटे व्यापारियों को समृद्ध बनाने की झूठी कहानी गड़ेंगे। उन्‍होंने कहा कि अमेजन द्वारा समभाव नाम से सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है, जिसमें जेफ बेजोस व्याख्यान देंगे। ये एक सोची-समझी रणनीति का हिस्सा है क्योंकि कैट ने अमेजन एवं फ्लिपकार्ट के खिलाफ पहले से ही राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया है। खंडेलवाल ने कहा कि अमेजन एवं फ्लिपकार्ट आर्थिक आतंकवादी है जो भारत के खुदरा व्यापार को नष्ट करके अपना प्रभुत्व और एकाधिकार बनाने के लिए क्रोनी पूंजीवाद बनाने की कोशिश कर रहे हैं। इसीलिए वो लागत से भी बहुत कम कीमत पर माल बेचना,  भारी डिस्काउंट देना,  सामान की एक्सक्लूसिविटी और तरजीही विक्रेता प्रणाली के जरिए अपना व्यापार कर रहे हैं। खंडेलवाल ने कहा कि बेजोस की भारत दौरा गलत काम को सही साबित करने के लिए सिर्फ एक आई वॉश है। उन्‍होंने कहा कि बेजोस के भारत आगमन पर देशभर के व्यापारी राष्ट्रीय विरोध दिवस मनाने की योजना बना रहे हैंजिसके तहत देश के सभी राज्यों के अलग-अलग शहरों में कारोबारियों द्वारा हल्ला बोल रैली निकाले एवं धरने का आयोजन कर बेजोस और अमेजन का जोरदार विरोध होगा। इस कार्यक्रम की घोषणा कैट 12 जनवरी को करेगा।

Posted in दिल्ली व्यापार

बेहतर भविष्य के लिये जनवरी 20 को दावोस में जुटेंगे दुनियाभर के राजनेता, कारोबारी और हस्ती

नई दिल्ली ।स्विट्जरलैंड के दावोस में 20 जनवरी को विश्व भर के राजनेता, कारोबारी और जानीमानी हस्ती बेहतर विश्व पर चर्चा करने के लिये विश्व आर्थिक मंच (डब्लूईएफ) की 50वीं सालाना बैठक में जुटेंगे। इस बैठक में ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरू जग्गी वासुदेव इस समारोह में प्रात:कालीन ध्यान सत्रों का संचालन करेंगे।   बैठक में भारत से 100 से अधिक कारोबारी व राजनेता आर्थिक महत्व तथा भू-राजनीतिक मामलों पर चर्चा में शामिल होंगे। इस समारोह में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ ही अफगानिस्तान, आयरलैंड, फिनलैंड, ब्राजील, इराक, सिंगापुर समेत अन्य देशों के शासनाध्यक्ष शामिल हो सकते हैं।  भारत से केंद्रीय मंत्रियों पीयूष गोयल और मनसुख मंडाविया तथा तीन मुख्यमंत्रियों अमरिंदर सिंह, कमलनाथ और बी.एस.येदियुरप्पा समेत भारतीय कंपनियों के 100 से अधिक मुख्य कार्यकारी अधिकारी इसमें हिस्सा लेंगे। समारोह के दौरान भारत के साथ ही हिंद महासागर क्षेत्र पर विशेष सत्र का आयोजन होगा। इसके अलावा भारतीय नेता कई अन्य द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकों में भाग लेंगे। इस कार्यक्रम को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के शामिल होने के बारे में अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। इन दोनों नेताओं के अलावा चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अनुपस्थित रह सकते हैं। विश्व आर्थिक मंच को दी गई जानकारी में बताया गया कि जिन वैश्विक नेताओं ने भागीदारी पर सहमति प्रदान की है, उनमें अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी, फिनलैंड की प्रधानमंत्री सन्ना मरिन, हांगकांग स्वायत्त क्षेत्र की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैरी लैम, इराक के राष्ट्रपति बरहम सालिह, नॉर्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सेइन लूंग और स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति उएली मौरेर शामिल हैं।  डब्लूईएफ की इस बैठक का आयोजन 20 से 24 जनवरी 2020 के दौरान होने वाला है। शामिल होने वाले वैश्विक नेताओं तथा कारोबारियों की आधिकारिक सूची कार्यक्रम से कुछ दिन पहले जारी होगी। भाग लेने वाले भारतीय कारोबारियों तथा प्रमुख हस्तियों में मुकेश अंबानी, गौतम अडाणी,  टाटा समूह के एन. चंद्रशेखरन,राहुल व संजीव बजाज, कुमार मंगलम बिड़ला, सज्जन जिंदल, उदय कोटक, भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार, आनंद महिंद्रा, सुनील व राजन मित्तल, रवि रुइया, पवन मुंजाल, नंदऩ निलेकणि, सलिल पारेख, एचसीएल टेक के सी.विजयकुमार, अजय पीरामल, रिशद प्रेमजी , फिरोजशाह गोदरेज और अजय सिंह शामिल हैं।

 

Posted in दिल्ली व्यापार

ओएनजीसी विदेश लिमिटेड के प्रबंध निदेशक की नियुक्ति के लिए चयन समिति का गठन

नई दिल्ली । केंद्र सरकार ने विदेश में पेट्रोलियम और गैस परिसंपत्तियों के अधिग्रहण के लिए भारत की प्रमुख फर्म ओएनजीसी विदेश लिमिटेड (ओविएल) के प्रबंध निदेशक की नियुक्ति के लिए चयन समिति का गठन किया है।   गत एक वर्ष से यह पद रिक्त है।  ओवीएल के पिछले प्रबंध निदेशक नरेंद्र के वर्मा 31 जनवरी, 2019 को सेवानिवृत्त हुए थे और तब से यह पद खाली पड़ा है। किसी भी पूर्णकालिक प्रमुख की अनुपस्थिति में, ओवीएल ने 2019 में एक भी अधिग्रहण नहीं किया। इसका रिकार्ड कंपनी की वेबसाइट पर दिखाया गया है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पेट्रोलियम मंत्रालय ने अब छह फरवरी तक इस पद के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं,आवेदनों की जांच  खोज-सह-चयन समिति द्वारा जांच की जाएगी। पैनल में पेट्रोलियम सचिव एम एम कुट्टी, पूर्व इंडियन ऑयल कॉर्प (आईओसी) के अध्यक्ष एम ए पठान, और सार्वजनिक उद्यम चयन बोर्ड (पीईएसबी) के अध्यक्ष के डी त्रिपाठी शामिल हैं।  पेट्रोलियम मंत्रालय के सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक ओवीएल के मामले में, पेट्रोलियम मंत्रालय चाहता था कि इस पद पर चयन के लिए एक खोज-सह-चयन समिति बनाई जाए। लेकिन आवेदन करने में देरी करने वाले नौकरशाहों पर सरकार के विभिन्न विभागों के साथ मतभेद होने के कारण इसमें विलम्ब होता रहा।सूत्रों ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय चाहता था कि किसी नौकरशाह को प्रतिनियुक्ति पर ओविएल में आने की अनुमति दी जाए। हालांकि, सरकार के अन्य लोगों ने ओविएल में शामिल होने से पहले नौकरशाह को सेवा से इस्तीफा देने का समर्थन किया था।  उल्लेखनीय है कि ओविएल सार्वजनिक क्षेत्र स्वामित्व वाली पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस कॉर्प (ओएनजीसी) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। वेनेजुएला से न्यूजीलैंड तक फैले 19 देशों में इसकी 39 परियोजनाएं चल रही हैं। इसने विदेशों में परियोजनाओं में अब तक 29.28 अरब अमरीकी डालर का निवेश किया है।

Posted in ASSAM व्यापार

पेट्रोल में 9 व डीजल में 12 पैसे की वृद्धि

गुवाहाटी। पेट्रोल व डीजल की कीमतों में वृद्धि का दौर रूकने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को पेट्रोल में 09 पैसे तथा डीजल में 12 पैसे की वृद्धि हुई है। इस वर्ष लगातार चौथे दिन पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में वृद्धि हुई है। गुवाहाटी में रविवार को 09 पैसे की वृद्धि के चलते पेट्रोल की कीमत 77.75 रुपये तथा 12 पैसे की वृद्धि के कारण डीजल की कीमत 71.63 रुपये हो गई है। इस तरह देखा जाए तो गत 26 दिसम्बर से 05 जनवरी के बीच पेट्रोल में 83 पैसे की वृद्धि हुई है। जबकि इसी अवधि में डीजल के दाम में 01.45 रुपये की बढ़ोत्तरी हुई है। उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार फेरबदल के चलते कीमतों में बदलाव देखे जा रहे हैं।

 

Posted in दिल्ली व्यापार

अमेरिका-ईरान तनाव का असर, चार दिन में 40 पैसे महंगा हुआ पेट्रोल

नई दिल्ली। अमेरिका -ईरान के बीच लगातार बढ़ते तनाव का असर कच्चे तेल की वैश्विक कीमतों पर पड़ रहा है और इसकी कीमत में जोरदार उछाल आया है। जिसका असर भारत भी पड़ा है। साल की शुरुआत से लेकर रविवार तक पेट्रोल 40 पैसे और डीजल 56 पैसे महंगी हो चुकी है।  दिल्ली में आज पेट्रोल 09 पैसे और डीजल 11 पैसे महंगा होकर क्रमश: 75.54 और 68.51 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।  बाजार के जानकारों के मुताबिक कुर्द फोर्स के प्रमुख कासिम सुलेमानी की मौत के बाद अमेरिकी और ईरान के बीच तनाव गहराता जा रहा है। बगदाद में अमेरिकी एयर स्ट्राइक के बाद ईरान और अमेरिका के बीच युद्ध जैसे हालात पैदा हो गए हैं, जिसके कारण अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल की कीमतों में लगातार उछाल आ रहा है।  इसका असर भारतीय बाजार पर भी देखने को मिल रहा है।
शहर                      पेट्रोल के दाम (रुपये/लीटर)   डीज़ल का भाव (रुपये/लीटर)
दिल्ली                  75.54 (+0.09 पैसे)                68.51(+0.11पैसे)
मुम्बई                  81.13(+0.09 पैसे)                71.84(+0.12 पैसे)
कोलकाता                 78.13(+0.09 पैसे)                70.87(+0.11 पैसे)
चेन्नै                         78.48 (+0.09 पैसे)                72.39(+0.11पैसे)
अहमदाबाद         72.83(+0.08 पैसे)                71.68(+0.11 पैसे)
गाजियाबाद         76.55(+0.07पैसे)                68.64(+0.11 पैसे)
नोएडा                 76.67(+0.07 पैसे )                68.78(+0.11 पैसे)
फरीदाबाद                 75.06(+0.07पैसे)                67.61(+0.01पैसे)
गुड़गांव                 74.87(+0.07 पैसे)                67.42(+0.01पैसे)
Posted in दिल्ली व्यापार

बीते सप्ताह शीर्ष दस में से छह कंपनियों के एमकैप में 26,624.10 करोड़ रुपये की कमी

नई दिल्ली/मुम्बई । बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 31 शेयरों वाले संवेदी सूचकांक सेंसेक्स में में सूचीबद्ध शीर्ष दस कंपनियों में से छह कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (एमकैप) में बीते सप्ताह 26,624.10 करोड़ रुपये की कमी दर्ज की गई। सर्वाधिक नुकसान निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक आईसीआईसीआई बैंक को हुआ।  बीते सप्ताह जिन कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में गिरावट दर्ज की गई उनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल), एचडीएफसी बैंक, हिन्दुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल), कोटक महिंद्रा बैंक और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) प्रमुख हैं। जिन चार शीर्ष कंपनियों के एमकैप में बढ़ोतरी दर्ज की गई उनमें टाटा समूह के स्वामित्व वाली सूचना प्रोद्योगिकी क्षेत्र (आईटी) की टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), हाउसिंग फाइनेंस कंपनी (एचडीएफसी), इन्फोसिस और आईटीसी प्रमुख रही। इस दौरान आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 6,883.44 करोड़ रुपये कम होकर 3,48,532.24 करोड़ रुपये, कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 5,197.08 करोड़ रुपये गिरकर 3,16,763.68 करोड़ रुपये, हिन्दुस्तान यूनिलीवर का बाजार मूल्यांकन 4,589.4 करोड़ रुपये लुढ़ककर 4,17,538.13 करोड़ रुपये, एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 3,724.38 करोड़ रुपये की गिरावट के साथ 6,94,541.80 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक का बाजार पूंजीकरण 3,123.61 करोड़ रुपये घटकर 2,97,858.91 करोड़ रुपये रह गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण भी 3,106.21 करोड़ रुपये गिरकर 9,74,494.06 करोड़ रुपये पर आ गया। इसके विपरीत इन्फोसिस का बाजार पूंजीकरण 3,960.45 करोड़ रुपये बढ़कर 3,17,730.27 करोड़ रुपये, आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 1,843.66 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 2,93,081.89 करोड़ रुपये, एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 1,772.25 करोड़ रुपये चढ़कर 4,24,432.18 करोड़ रुपये और टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 844.29 करोड़ रुपये मजबूती के साथ 8,25,674.73 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। एमकैप में कमी के बावजूद बाजार पूंजीकरण के हिसाब से रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष कंपनी बनी हुई है।इसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और आईटीसी का स्थान रहा। आलोच्य सप्ताह के दौरान बंबई शेयर बाजार 30 शेयरों वाले सेंसेक्स में 110.53 अंक यानी 0.26 प्रतिशत की गिरावट रही।
बीते सप्ताह एमकैप के हिसाब  से शीर्ष 10 कंपनियों की सूची
   कंपनी                                   बाजार पूंजी.
1.आरआईएल-                       9,74,494.06 करोड़ रुपये
2.टीसीएस-                           8,25,674.73 करोड़ रुपये
3.एचडीएफसी बैंक-                6,94,541.80 करोड़ रुपये
4.एचडीएफसी-                      4,24,432.18 करोड़ रुपये
5.एचयूएल-                          4,17,538.13 करोड़ रुपये
6.आईसीआईसीआई बैंक-       3,48,532.24 करोड़ रुपये
7.इन्फोसिस-                       3,17,730.27 करोड़ रुपये
8.कोटक महिंद्रा बैंक-            3,16,763.68 करोड़ रुपये
9.भारतीय स्टेट बैंक-            2,97,858.91 करोड़ रुपये
10.आईटीसी –                     2,93,081.89 करोड़ रुपये
Posted in दिल्ली व्यापार

नये साल में दूसरे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

नई दिल्‍ली । ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (ओएसमी) ने नये साल में पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी की है। ओएमसी ने देश के चार प्रमुख महानगरों में शुक्रवार को पेट्रोल की कीमत में 10 पैसे और डीजल की कीमत में 15 पैसे की बढ़ोतरी की है।  इसी के साथ राजधानी दिल्‍ली में पेट्रोल 10 पैसे, कोलकाता, मुंबई में 7 पैसे जबकि चेन्नई में 8 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है। दिल्ली में डीजल 15 पैसे, कोलकाता में 12 पैसे, मुंबई में 13 पैसे और चेन्नई में 14 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है।  इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार देश के चार प्रमुख महानगरों दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल की कीमत बढ़कर क्रमशः 75.35 रुपये, 77.94 रुपये, 80.94 रुपये और 78.28 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। चारों प्रमुख महानगरों में डीजल की कीमत भी बढ़कर क्रमशः 68.25 रुपये, 70.61 रुपये, 71.56 रुपये और 72.12 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

दिल्‍ली के आसपास पेट्रोल-डीजल के भाव

राजधानी दिल्‍ली सटे नोएडा में पेट्रोल 76.52 रुपये और डीजल 68.52 रुपये प्रति लीटर तथा गाजियाबाद में पेट्रोल 76.40 रुपये, डीजल 68.38 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। फरीदाबाद में पेट्रोल 74.91 रुपये और डीजल 67.38 रुपये प्रति लीटर के भाव बिक रहा है। इसके अलावा गुरुग्राम में पेट्रोल 74.72 रुपये तो डीजल 67.20 रुपये प्रति लीटर के भाव मिल रहा है।

Posted in दिल्ली व्यापार

एशियाई बाजारों के कमजोर रुख से घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ

नई दिल्ली/मुम्बई । एशियाई बाजारों से मिले कमजोर रुख से घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत कारोबारी सप्ताह के आखिर दिन कमजोरी के साथ हुई है। मिड और स्मॉलकैप शेयर में कुछ खरीदारी दिख रही है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.16 प्रतिशत और स्मॉलकैप इंडेक्स 0.22 प्रतिशत की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। तेल-गैस शेयरों में भी आज खरीदारी नजर आ रही है। बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 0.15 प्रतिशत की मजबूती के साथ कारोबार कर रहा है। निफ्टी के सिर्फ आईटी सेक्टर इंडेक्स को छोड़कर सभी सेक्टर लाल निशान में दिख रहे हैं। निफ्टी के आईटी इंडेक्स में 0.18 प्रतिशत की बढ़त दिख रही है। जबकि ऑटो इंडेक्स 0.38 प्रतिशत, एफएमसीजी इंडेक्स 0.11 प्रतिशत, मेटल इंडेक्स 0.85 प्रतिशत, फार्मा इंडेक्स 0.27 प्रतिशत और रियल्टी इंडेक्स 0.05 प्रतिशत की कमजोरी के साथ कारोबार कर रहे हैं।  बैंकिंग शेयरों पर दबाव नजर आ रहा है जिसके चलते बैंक निफ्टी 0.54 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 32,267 के स्तर पर नजर आ रहा है।  फिलहाल सुबह 10 बजे बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 31 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 97.31 अंक यानी 0.23 प्रतिशत की गिरावट के साथ 41529.33 अंक पर कारोबार कर रहा है। दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों वाला सूचकांक निफ्टी 33.90 यानी 0.28 प्रतिशत की गिरावट के साथ 12248.30 अंक के आसपास कारोबार कर रहा हैं।

Posted in दिल्ली व्यापार

दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 11 और डीजल में 14 पैसे की बढ़ोतरी

नई दिल्ली । नए साल 2020 के दूसरे दिन  पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव आया है। एक दिन के ठहराव के बाद आज राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 75.25 रुपये लीटर बिक रहा है और डीजल 68.10 रुपये लीटर। मुम्बई में पेट्रोल के दाम में 0.08 पैसे की बढ़ोतरी हुई है।
शहर          पेट्रोल के दाम (रुपये/लीटर) डीज़ल का भाव (रुपये/लीटर)
दिल्ली                75.25 (+0.11 पैसे)            68.10(+0.14 पैसे)
मुम्बई          80.87(+0.08 पैसे)            71.43(+0.12 पैसे)
कोलकाता          77.87(+0.08 पैसे)            70.49(+0.11 पैसे)
चेन्नई          78.20 (+0.08 पैसे)            71.98(+0.12पैसे)
गाजियाबाद         76.34(+0.06 पैसे)            68.25(+0.11 पैसे)
नोएडा          76.46(+0.06 पैसे )            68.39(+0.11 पैसे)
फरीदाबाद          74.85(+0.06 पैसे)            67.28(+0.01पैसे)
गुड़गांव          74.67(+0.07 पैसे)            67.09(+0.01पैसे)
उल्लेखनीय है कि एक जनवरी को इनमें कोई बदलाव नहीं आया था जबकि उसके पहले तीन दिनों तक कीमतें लगातार बढ़ रही थीं।
Posted in दिल्ली व्यापार

घरेलू शेयर बाजार में तेजी, दिग्गज के साथ छोटे शेयरों में भी खरीदारी

नई दिल्ली । अस्पष्ट वैश्विक संकतों के बीच नए साल के दूसरे दिन गुरुवार को घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत तेजी के साथ हुई है। दिग्गज शेयरों के साथ ही मझोले और छोटे शेयर में भी खरीदारी नजर आ रही है। बीएसई का मिडकैप सूचकांक फिलहाल 0.19 प्रतिशत और स्मॉलकैप इंडेक्स 0.34 प्रतिशत की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। तेल-गैस शेयरों में भी आज तेजी नजर आ रही है। बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 0.23 प्रतिशत की मजबूती के साथ कारोबार कर रहा है।  मीडिया हाउस के शेयरों को छोड़कर निफ्टी के सभी सेक्टर इंडेक्स हरे निशान पर कारोबार कर रहे हैं। ऑटो, बैंकिंग, मेटल, फार्मा और रियल्टी शेयर में अच्छी खरीदारी दिख रही है। बैंक निफ्टी 0.29 प्रतिशत की बढ़त के साथ 32,195 के आसपास नजर आ रहा है।  फिलहाल बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 31 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स करीब 134.50 अंक यानी 0.31 प्रतिशत की मजबूती के साथ 41,435.16 के आसपास कारोबार कर रहा है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों वाला इंडेक्स निफ्टी भी 40.75 अंक यानी 0.33 प्रतिशत की मजबूती के साथ 12,223.25 के आसपास कारोबार कर रहा है।