Category: राज्य

Posted in उत्तरप्रदेश

बेटे के हत्यारों को उम्रकैद से माता-पिता को मिला सुकून

अदालत ने तीन डाॅक्टरों को सुनाई उम्रकैद की सजा
मेरठ। पंद्रह साल पहले हुए मेडिकल की पढ़ाई कर रहे बेटे के कत्ल के दोषियों को उम्रकैद की सजा मिलने से माता-पिता को सुकून मिला है। बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए कचहरी की भागदौड़ करने का नतीजा यह मिला कि कोर्ट ने तीन डाॅक्टरों को उम्रकैद की सजा सुनाई। छह जुलाई 2004 को एलएलआरएम मेडिकल काॅलेज, मेरठ में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष के छात्र सिद्धार्थ चौधरी की हत्या कर दी गई थी। उसका शव हाॅस्टल के कमरे में मिला था। बेटे की मौत पर उसके पिता मुजफ्फरनगर निवासी डाॅ. सुरेंद्र सिंह ग्रेवाल व उनकी डाॅक्टर पत्नी ने मेडिकल काॅलेज की प्राचार्य डाॅ. उषा शर्मा, हाॅस्टल इंचार्ज डाॅ. सचिन मलिक, अमनदीप सिंह और यशपाल राणा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस ने अपनी जांच में डाॅ. उषा शर्मा को क्लीन चिट दे दी। यह मामला एडीजे प्रथम गुरप्रीत सिंह बावा की अदालत में चल रहा था। अपने बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए डाॅक्टर दंपति ने 15 साल तक मेरठ कचहरी के चक्कर काटे। डाॅक्टर दंपति का कहना है कि इतनी लंबी अवधि में चक्कर काटते-काटते वह थक चुके थे। अब जाकर एडीजे प्रथम की अदालत ने तीनों हत्यारों डाॅ. सचिन मलिक, अमनदीप सिंह और यशपाल राणा को उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही उन पर एक-एक लाख रुपये का अर्थदंड लगाया है। इससे डाॅक्टर दंपति को राहत की सांस मिली है। 15 साल की अवधि में दोषी पाए गए अमनदीप सिंह और यशपाल राणा भी एमबीबीएस करके डाॅक्टर बन गए।
डाॅ. उषा शर्मा पर चलेगा मुकदमा
सरकारी अधिवक्ता नरेश दत्त शर्मा और डाॅक्टर दंपति के अधिवक्ता योगेंद्र पाल सिंह ने बताया कि इस मामले में कुल 20 गवाह पेश किए गए थे। कोर्ट ने पूर्व प्राचार्य डाॅ. उषा शर्मा पर अलग से मुकदमा चलाने की मंजूरी दी है। कोर्ट ने तीन दिन पहले ही तीनों आरोपितों को जेल भेज दिया था। 15 साल बाद आए मेडिकल छात्र की हत्या के फैसले ने मेडिकल कालेज में खलबली पैदा कर दी है। वहां यह फैसला चर्चा का बिषय बना हुआ है।
Posted in मध्यप्रदेश लेटेस्ट न्यूज

मप्र के 20 जिलों में आकाशीय बिजली का खतरा, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

भोपाल । हिमालयीय क्षेत्र में हुई ताजा बर्फबारी और अरब सागर से आ रही नमी के कारण मध्य प्रदेश का मौसम बिगड़ गया है। यहां जहां एक तरफ बारिश का दौर जारी है वहीं दूसरी तरफ मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान करीब 20 जिलों में बारिश के साथ बिजली गिरने की भी आशंका जताई है। मौसम विभाग ने कई जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। इसके मुताबिक रीवा, सागर, शहडोल संभागों के जिलों में तथा कटनी, जबलपुर, भिंड, मुरैना, ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी, रायसेन, विदिशा, भोपाल, होशंगाबाद और बैतूल जिलों में कहीं-कहीं गरज चमक के साथ बिजली गिरने की आशंका है। मौसम विभाग के मुताबिक भोपाल और आसपास के जिलों के लिए पूर्वानुमान है कि यहां आंशिक बादल छाए रहेंगे। कुछ हिस्सों में गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है। हवा की रफ्तार 20 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। न्यूनतम तापमान 14 डिग्री के आसपास रहेगा जबकि अधिकतम तापमान 26 डिग्री से कम होना शुरू हो जाएगा। मौसम विभाग के मुताबिक ग्वालियर, चंबल, भोपाल, होशंगाबाद, रीवा, सागर, शहडोल, जबलपुर संभागों के जिलों में मध्यम से घना कोहरा छा जाएगा। यह कोहरा सुबह के समय ही रहेगा| मध्य प्रदेश में मौसम अचानक हुए बदलाव के लिए मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि राजस्थान के ऊपर एक चक्रवात बन रहा है और अरब सागर से भी नमी का बढ़ना जारी है। इसी कारण मध्य प्रदेश में यह मौसम में बदलाव हुआ है। – मौसम विभाग के मुताबिक बारिश और ओले गिरने से पूरे प्रदेश में तापमान में और अधिक गिरावट आने वाली है। मध्य प्रदेश के बैतूल, पचमढ़ी, शिवपुरी, उमरिया आदि क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री से नीचे निकल गया। – धान की फसल वाले क्षेत्रों में हुई ओलावृष्टि से फसल को नुकसान की आशंका है। – सहकारी समितियों में बिकने आई किसानों की उपज बारिश और ओलावृष्टि के कारण भीग गई। –  हालांकि गेहूं की फसल के लिए यह बारिश अमृत की तरह मानी जा रही है।