Category: मनोरंजन

Posted in मनोरंजन

उपकरण तो उपलब्ध, चिकित्सक के अभाव में बच्चों को नहीं मिल पा रहा बेहतर उपचार

मीरजापुर, 15 जनवरी । चिकित्स व कर्मी के अभाव में जूझ रहा जिला व महिला अस्पताल महिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड में सभी उपकरण उपलब्ध  भर्ती नवजात को आक्सीजन देने के लिए तीन साधन उपलब्ध हैं नेबुलाइजर, इंयूजन पंप व पल्स आक्सीमीटर की सुविधा दुरुस्त   जिला व महिला अस्पताल में उपकरण तो उपलब्ध हैं, लेकिन चिकित्सक व कर्मी के अभाव में बच्चों को बेहतर उपचार नहीं मिल पा रहा है। शासन स्तर पर चिकित्सकों की कमी पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसका खामियाजा अस्पताल में भर्ती बच्चों को बेहतर सुविधा उपलब्ध होने के बावजूद उपचार नहीं मिल पाता है। अस्पताल के अधिकारी भी डाक्टर व कर्मी के अभाव का रोना रो रहे हैं। अस्पतालों की व्यवस्था सुधारने के लिए सबसे जरुरी डाक्टर व कर्मचारियों की कमी को दूर करना होगा। जिला अस्पताल में सबसे पहले आईसीयू वार्ड खोला गया था। जो महिला अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। इससे महिला अस्पताल में प्रसव के बाद नवजात की हालत बिगड़ने पर तत्काल उसे आईसीयू की सुविधा मिल सके। जिला अस्पताल में बच्चों के तीन डाक्टर के पद हैं। लेकिन वर्षों से मात्र एक बाल रोग विशेषज्ञ डा.आर.के. सिंह के सहारे बच्चों का इलाज चल रहा है। डाक्टर के अवकाश पर जाने से बड़ी समस्या खड़ी हो जाती है। ऐसे में लोगों को प्राईवेट अस्पताल का रुख अपनाना पड़ता है। अस्पताल के बच्चा वार्ड में आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है। बच्चों को सिलेंडर व पाइप लाइन के माध्यम से आक्सीजन मुहैया कराने की सुविधा उपलब्ध है। वहीं महिला अस्पताल में बच्चों के लिए चार डाक्टरों के पद हैं। यहां भी मात्र दो डाक्टरों के सहारे महिला अस्पताल चल रहा है। बाल रोग विशेषज्ञ डा.एलएस सिंह व डा.आशुतोष शुक्ला हैं। जिनकी ओपीडी के बाद काल पर ड्यूटी रहती है। जबकि आईसीयू में दो स्टॉफ नर्स, एक दाई, स्वीपर व गार्ड की शिफ्ट में ड्यूटी रहती है।बारह रेडियंट वार्मर का है आईसीयू वार्ड जिला महिला अस्पताल में बारह रेडियंट वार्मर का आईसीयू वार्ड है। आईसीयू वार्ड में सभी उपकरण उपलब्ध है। जिससे बच्चों का बेहतर इलाज होता है। बाल रोग विशेषज्ञ डा.एलएस मिश्रा ने बताया कि वार्ड में बच्चों को सांस लेने में दिक्कत व जकड़न होने पर नेबुलाइजर से भांप दिया जाता है। मुंह पर लगने वाले कैप को समय समय पर बदल दिया जाता है। इंयूजन पंप से भर्ती बच्चों को इमरजेंसी में धीरे धीरे दवा दी जाती है। जो बगैर इंयूजन पंप के संभव नहीं है। पल्स आक्सीमीटर बच्चों में आक्सीजन की कमी देखने में प्रयोग होता है। जब बच्चे का शरीर नीला पड़ रहा हो तब आक्सीजन चेक करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। वार्मर जो कि ठंड में बच्चों को गर्म करने के लिए उपयोग होता है। आईसीयू वार्ड में बच्चों को आक्सीजन मुहैया कराने के लिए तीन संसाधन है। सिलेंडर, पाइप लाइन और तीसरा कंस्टेटर मशीन के माध्यम से नवजात को आक्सीजन दिया जाता है। सभी उपकरण चालू अवस्था में हैं।जिला महिला अस्पताल के सीएमएस डाॅ. संजय पांडेय ने कहा कि जिले में मात्र एक आईसीयू वार्ड महिला अस्पताल में हैं। यहां अस्पताल में भर्ती व सीएचसी, पीएचसी से रेफर केस भी आते हैं। अधिकतर सीएचसी व पीएचसी से रेफर ही आते हैं। ऐसे में आईसीयू वार्ड की गाइड लाइन को हमेशा ध्यान में रखकर उसका क्रियान्यवन किया जाता है। इससे नवजात को कई दिक्कत न हो सके। यूमिगेट से दूर कराया जाता है इंफेक्शन आईसीयू वार्ड में बच्चे न होने पर यूमिगेट से इंफेक्शन दूर किया जाता है। डा. मिश्रा ने बताया कि बच्चे अधिक भर्ती होने से इस प्रक्रिया में देरी होती है। वैसे बराबर झाड़ू व पोछा से वार्ड को साफ कराया जाता है। यदि बच्चे भर्ती नहीं हैं तो यूमिगेट से इंफेक्शन दूर कराने की प्रकिया करायी जाती है। आईसीयू वार्ड के बच्चों को दूसरे स्थान पर शिफ्ट कराने की सुविधा नहीं है। इसलिए यूमिगेट की प्रक्रिया जल्द नहीं हो पाती है। फिलहाल स्वीपर से बराबर सफाई करायी जाती है। किसी भी महिला को जूता व चप्पल पहनकर अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जाता है।  25 से 28 डिग्री के बीच रखा जाता है नवजात  आईसीयू वार्ड के तापमान का विशेष रुप से ध्यान दिया जाता है। वार्ड का तापमान 25 से 28 डिग्री तक होना चाहिए। इसी के बीच वार्ड के तापमान को रखा जाता है। इसकी देखरेख भी की जाती है। तापमान की जानकारी के लिए वार्ड में रुम थर्मामीटर भी लगा हुआ है। इससे तापमान का पता चलता रहता है। इससे भर्ती नवजात को भी कोई दिक्कत नहीं होती है। रुम थर्मामीटर भी चालू स्थिति में ठीक मिला। मैटर्निटी विंग में आईसीयू व एसएनसीयू दोनों की सुविधा  जिला महिला अस्पताल परिसर में पीपीपी मॉडल पर बने मैटर्निटी विंग में आईसीयू व एसएनसीयू के दो वार्ड की सुविधा उपलब्ध हैं। आईसीयू में भर्ती के बावजूद नवजात की हालत बिगड़ने पर उसे एसएनसीयू में भर्ती कर दिया जाता है। एसएनसीयू में नेबुलाइजर, इंयूजन पंप, मल्टी पैरा मानीटर, पल्स आक्सीमीटर, वार्मर, आक्सीजन की पाइप लाइन के अलावा तापमान के अनुसार आटोमैटिक मशीन बंद होने की सुविधा उपलब्ध हैं। सप्ताह में दो बार यूमिगेट से इंफेक्शन को दूर किया जाता है। इसके लिए वार्ड में नवजात को दूसरे वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है। इसके अलावा साफ-सफाई के दौरान बच्चे को उसकी मां के बेड पर ही सारी सुविधा उपलब्ध करा दी जाती है। पाइप लाइन से आक्सीजन सभी बेड पर उपलब्ध है।विंग के प्रभारी डा.युसुफ नसीम ने बताया यहां डाक्टर व कर्मचारी की सुविधा है। बच्चे के चार डाक्टर हैं। प्रसव के बाद नवजात को परेशानी होने पर 72 घंटे तक आईसीयू वार्ड में भर्ती करा दिया जाता है। इसके अलावा समस्या होने पर एसएनसीयू वार्ड में भर्ती कर दिया जाता है।

 

Posted in मनोरंजन

सड़क सुरक्षा सप्ताह के 5वें दिन शिक्षण संस्थानों में चित्रांकन प्रतियोगिता का आयोजन 

कठुआ, 15 जनवरी । बुधवार को जिला सड़क सुरक्षा समिति के तत्वाधान में सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा कार्यक्रम के तहत चलाए जा रहे 31वें सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत कठुआ के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह में छात्रों को सड़क परिवहन सेवा सुरक्षा से संबंधित जानकारियां दी गई।इस अवसर पर सामान्य ज्ञान प्रश्नोतरी एवं चित्रांकन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। दोनों ही यातायात संबंधी नियमों एवं सुरक्षित यात्रा पर आधारित रहे। इस अवसर पर हायर सेकेंडरी स्कूल गल्र्स, नव आदर्श एकेडमी शिवा नगर, इंटरनेशनल दिल्ली पब्लिक स्कूल कठुआ सहित अन्य कई स्कूलों में सड़क सुरक्षा सप्ताह पर आधारित विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। जिसमें स्कूलों के बच्चों ने विभिन्न प्रकार के माॅडल और चित्रांकन बनाकर लोगों को सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा कार्यक्रम के तहत जागरूक किया। अंत में प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरित किए गए। इस अवसर पर आरटीओ आर.के थापा ने बताया कि सुरक्षा के नियमों का पालन करना अनिवार्य है। इससे दुर्घटनाओं की संख्या घटेगी एवं जानमाल सुरक्षित होंगे। उन्होंने कहा कि सभी को चाहिए कि वे पूरी निष्ठा से सड़क सुरक्षा एवं यातायात संबंधी नियमों का पालन करें। सभी विद्यार्थियों शिक्षकों एवं उपस्थित कर्मचारियों को यातायात संबंधी नियमों के परिपालन का शपथ दिलाया।

Posted in मनोरंजन

समस्याओं को लेकर रेलवे स्टेशन अधीक्षक को दिया ज्ञापन

ऋषिकेश, 15 जनवरी । रेलवे स्टेशन की समस्याओं को लेकर बनखंडी क्षेत्र की पार्षद अनीता रैना के नेतृत्व में क्षेत्र के लोगों ने रेलवे महाप्रबंधक मुरादाबाद के नाम एक ज्ञापन रेलवे स्टेशन अधीक्षक को सौंपा। साथ ही शीघ्र समस्याओं के समाधान की मांग की।
ज्ञापन में कहा गया कि रेलवे स्टेशन परिसर में बनी पानी की टंकी से लगातार लीकेज हो रही है, जिससे आसपास के लोगों को परेशानी से जूझना पड़ रहा है। रेलवे की सुरक्षा को लेकर बनाई गई दीवार भी पुरानी होने के कारण क्षतिग्रस्त हो गई है, जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। इसके अलावा रेलवे परिसर में मौजूद झाड़ियों में बदमाश चोरी करने के बाद छुप जाते हैं, जिससे अपराधियों को भी बढ़ावा मिल रहा है।ज्ञापन में मांग की गई है कि जनहित को देखते हुए तत्काल इन समस्याओं का समाधान किया जाए अन्यथा ग्रामीणों को रेलवे विभाग के विरुद्ध आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ेगा। ज्ञापन देने वालों में विक्रम सिंह, रणवीर सिंह, राकेश कुमार, नगर पार्षद राजेश दिवाकर, मनोज शर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

 

Posted in मनोरंजन

नक्सली पर्चे फेंककर फैला रहे हैं दहशत

बीजापुर, 15 जनवरी । जिले के भोपालपटनम से महज 04 किलोमीटर दूर नक्सलियों द्वारा मट्टीमरका में बीती रात परचा फेंका गया है। अलग-अलग स्थानों पर नक्सलियों के द्वारा पर्चे फेंके जाने और पर्चे में पंचायत चुनाव के बहिष्कार करने के साथ नक्सली अपनी उपस्थिति दर्ज करा कर भय का माहौल निर्मित करना चाहते हैं। त्रिस्तरीय पंचायती चुनावों का तारीखों का जबसे ऐलान हुआ तब से वे चुनाव -बहिष्कार का आवाहन कर रहे हैं। इसके साथ ही पर्चे में एनआरसी और सीएए का विरोध भी किया जा रहा है।

 

Posted in मनोरंजन

सीएए, एनआरसी के विरोध में मुस्लिम व दलितों ने की भूख हड़ताल 

हुब्बल्ली,15 जनवरी । नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीसीए) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिज़न्स (एनआरसी) के विरोध में बुधवार को स्थानीय मुस्लिम व दलित समुदाय और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक दिन की भूख हड़ताल रखी। बुधवार को डॉ. बीआर अंबेडकर सर्किल पर मुस्लिम और दलित समुदाय के लोगों ने कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ एनआरसी, सीएए के विरोध में एक दिन की भूख हड़ताल रखी। इस मौके पर कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री के खिलाफ नारे लगाये और सीएए को वापस लेने तथा एनआरसी को लागू न करने की मांग की। इस मौके पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री ए एम हिंड्सगेरी ने कहा कि सीसीए और एनआरसी संविधान के खिलाफ है, जो देश के लोगों को बांटने की साजिश है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के इस अधिनियम को वापस लेने तक वह विरोध करेंगे। अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य शाकिर सनदी ने कहा कि देश में पहली बार ऐसी तानाशाही देखने को मिल रही है। भाजपा सरकार सीएए और एनआरसी के माध्यम से लोगों को विभाजित करने का प्रयास कर रही है। हड़ताल में पूर्व सांसद आईजी सनदी, एफएच जक्कप्पनवर, पीतांबरप्पा बिलार, मजहर खान, दलित नेता देवानंद जगापुर और गंगाधर पेरूर के अलावा अन्य लोग भी शामिल थे।

 

Posted in मनोरंजन

 05 माह से नाली में बहाया जा रहा है ट्यूबवेल का पानी 

जगदलपुर, 15 जनवरी। निगम का एक ऐसा वार्ड जहां ट्यूबवेल के पानी को 05 माह से नाली में बहाया जा रहा है। शहर के लाल बहादुर शास्त्री वार्ड आमगुड़ा दुर्गा मंदिर के पास स्थित पम्प हाउस में विगत 05 माह से रात भर ट्यूबवेल का पानी बहाया जा रहा है।इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है स्थानीय वार्डवासियों के अनुसार बोर काफी नीचे धसक गया है और रात भर बोर को चालू कर दिया जाता है, ताकि सुबह साफ पानी आये, लेकिन ना तो वार्ड के पार्षद को इस ओर ध्यान दे रहे हैऔर न ही निगम के पीएचई विभाग भी इस ओर ध्यान देना उचित नहीं समझता है। कई बार  शिकायत भी कर चुके है कि बोर को सुधारा जाए ,किसी ने इस सुधारने का कार्य नहीं किया है। वहीं वार्ड पार्षद यशवंत ध्रुव ने कहा है कि जल्द ही उस ट्यूबवेल को बंद कर नया बोर किया जाएगा।

 

Posted in मनोरंजन

हमीरपुर में सात वर्ष के बच्चे की हत्या, आरोपित गिरफ्तार

हमीरपुर, 15 जनवरी। जिले के जरिया थाना क्षेत्र में एक बदमाश ने पड़ोस के सात साल के एक बच्चे की हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित दुष्कर्म के एक मामले में सजा भी काट चुका है।
बताया गया है कि जिले के जरिया थाना क्षेत्र के चंडौत गांव निवासी मंगल सिंह का पुत्र अवधेश यादव (7) मंगलवार शाम घर के सामने से लापता हो गया। परिवार के लोगों ने उसकी खोजबीन की लेकिन कोई पता नहीं चल सका। गांव की फूलमती पत्नी घनश्याम, कुंती पत्नी स्व.गोविन्द दास ने बच्चे के परिजनों को बताया कि पड़ोस के रामप्रकाश पुत्र बृगभान राजपूत बच्चे को बेतवा नदी के घाट की ओर ले गया है।इसके बाद ग्रामीणों के साथ परिजन बेतवा नदी के खाखी घाट के पास पहुंचे तो देखा कि आरोपित बच्चे की हत्या कर लाश को छिपाने के मकसद से नदी में डुबो रहा था। परिजनों को देख आरोपित शव को नदी में छोड़ मौके से भाग गया। ग्रामीणों की मदद से शव को नदी से बाहर निकाला गया।सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया। इस घटना से पूरे गांव के लोग स्तब्ध है। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धारा-302, 201 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।
अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बुधवार को बताया कि आरोपित नशे में धुत होकर घटना को अंजाम दिया है। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपित के खिलाफ थाने में तीन मामले दर्ज हैं, वहीं दिल्ली में दुष्कर्म के मामले में वह तिहाड़ जेल में एक साल तक बंद रहा है। आरोपित भी मृतक बच्चे के घर के बगल में रहता है।

 

Posted in मनोरंजन

खड़ी कार से एक व्यक्ति का शव बरामद

जम्मू, 15 जनवरी। जम्मू शहर के डिगियाना क्षेत्र में सड़क के बीच में खड़ी एक कार में एक व्यक्ति मृत पाया गया। मृतक की पहचान फिलहाल नहीं हो पाई हैपुलिस के अनुसार बुधवार को डिगियाना क्षेत्र में सड़क के बीच में खड़ी एक कार में एक व्यक्ति संदिग्ध परिस्थितियों में काफी समय से एक ही तरफ लेटा हुआ देखा गया। लगातार उसकी तरफ देखने से राहगीरों को उसके मरने का संदेह हुआ तो उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचित किया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और कार को अपने कब्जे में ले लिया। शव को पोस्टमार्टम और पहचान के लिए जीएमसी अस्पताल रखा गया है। इस संदर्भ में मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी गई है।

Posted in मनोरंजन

सपा का नाम बदलकर परिवारवादी लूटपाट पार्टी रख दें अखिलेश भाजपा

लखनऊ, 15 जनवरी । सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के ट्वीट के जवाब में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि नाम समाजवाद, काम परिवारवाद का। सबसे पहले अखिलेश को पार्टी का नाम बदलकर परिवारवादी लूटपाट पार्टी (पलूप) रख लेना चाहिए।  मनीष शुक्ला ने बुधवार को हिन्दुस्थान समाचार से कहा कि भाजपा हमेशा भारतीय संस्कृति का पक्षधर रही है। जबसे नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने तबसे पूरे विश्व में भारत का डंका बज रहा है। वे हर वक्त देश के लिए जगते हैं। दूसरी तरफ मुलायम सिंह हों या अखिलेश यादव इनका हर काम परिवार के लिए होता है। इनको देश की जनता से कुछ भी लेना-देना नहीं है और सिर्फ वोट बैंक की राजनीति करते हैं।उल्लेखनीय है कि मंगलवार की देर रात अखिलेश यादव ने ट्वीट किया कि भाजपाई वाचिक-शाब्दिक कुसंस्कृति का प्रतीक बने भाजपा के नेताओं के प्रतिशोध व घृणा से भरे कुवचन देखकर देश हित के बारे में सोचने वाले सच्चे व अच्छे नागरिकों की ये मांग है कि ‘भाजपा’ अपने नाम में से ‘भारतीय जनता’ जैसे शब्द हटा दे, जिससे भारतीय जनता बदनाम न हो।

 

Posted in मनोरंजन

भंसाली की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का फर्स्ट लुक पोस्टर रिलीज, माफिया क्वीन बनी हैं आलिया भट्ट

फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का फर्स्ट लुक पोस्टर बुधवार को जारी हो गया है। फिल्म में 26 वर्षीय अभिनेत्री आलिया भट्ट माफिया क्वीन बनी हैं। फिल्म हुसैन जैदी की किताब ‘माफिया क्वींस ऑफ मुंबई’ पर आधारित है। संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ 11 सितंबर, 2020 को रिलीज होगी। निर्माताओं ने फिल्म के दो पोस्टर जारी किए हैं। पहले पोस्टर में आलिया का पूरा लुक दिख रहा है, वहीं दूसरा क्लोज-अप शॉट है। पहले पोस्टर में हम युवा गंगूबाई (आलिया भट्ट) को देख सकते हैं। वह नीले रंग का ब्लाउज और लाल रंग की स्कर्ट पहने दिख रही है। आलिया बालों में दो चोटी, माथे पर बड़ी बिंदी, आंखों में मोटा काजल, कान में बाली और हाथों में चूड़ियां पहनी नजर आ रही है, जबकि अगले पोस्टर में आलिया को माफिया क्वीन के रूप में देखा जा सकता है। आलिया भट्ट ने माथे पर एक बड़ी लाल बिंदी और आंखों में मोटा काजल, गले में हार, नाक में पिन और कानों में झुमका पहना है। वह पारंपरिक काठियावाड़ी लुक में नजर आ रही है। आलिया का ऐसा अवतार आपने पहले कभी नहीं देखा होगा। फिल्म एवं ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्विटर पर फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का फर्स्ट लुक पोस्टर शेयर किया। तरण ने ट्वीट किया-‘आलिया भट्ट और संजय लीला भंसाली पहली बार साथ काम कर रहे हैं …’गंगूबाई काठियावाड़ी’ का फर्स्ट लुक पोस्टर, संजय लीला भंसाली और जयंतीलाल गोयल द्वारा निर्मित यह फिल्म 11 सितंबर, 2020 को रिलीज होगी।भंसाली प्रोडक्शंस ने ट्विटर पर पोस्टर शेयर कर लिखा-‘शक्ति। ताकत। डर! एक नजर, हजार भावनाएं। पेश है ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का पहला लुक। सिनेमाघरों में 11 सितंबर, 2020 को रिलीज होगी।आलिया भट्ट ने सोशल मीडिया पर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ से अपना फर्स्ट लुक साझा किया। आलिया भट्ट ने ट्विटर पर ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का पोस्टर शेयर कर लिखा-‘यहां वह है, ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’।’पेन मूवीज ने ट्वीट किया-‘वह 2020 तक तूफान ले जाएगी। यहां ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का भयंकर रूप देखने को मिलता है। सिनेमाघरों में 11 सितंबर,  2020 को देखे।’फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ में मुख्य पुरुष अभिनेता के नाम की घोषणा अभी नहीं की गई है। आलिया फिल्म में अपने किरदार में गहराई से उतरने के लिए मराठी शब्द भी सीख रही हैं। ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की शूटिंग पिछले साल दिसंबर में शुरू हुई थी। आलिया भट्ट ने इंस्टाग्राम पर अपने वैनिटी वैन की एक तस्वीर साझा की थी, जिस पर गंगूबाई का स्टिकर लगा था। तस्वीर के साथ उसने लिखा था-‘देखो इस साल सांता ने मुझे क्या दिया।’ भंसाली ने फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की घोषणा अक्टूबर 2019 में की गई थी। संजय लीला भंसाली के साथ आलिया भट्ट की यह पहली फिल्म है। संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ इसी साल 11 सितंबर को रिलीज होगी।